शरीर में विटामिन बी-12 का महत्व और विटामिन बी-12 की कमी के शुरुआती लक्षण क्या हैं ?

आज से हम विटामिन बी-12 पर एक गहन श्रृंखला शुरू करने जा रहे हैं। जिसका मकसद शरीर में विटामिन बी-12 के महत्व को सरल भाषा में समझना और उसका इलाज करना ।

आज 23 प्रतिशत से अधिक भारतीय विटामिन बी-12 की कमी का सामना कर रहे हैं। विटामिन बी-12 विटामिन-बी कॉम्प्लेक्स में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

तो आज हमारा पहला विषय है शरीर में विटामिन बी-12 का महत्व और विटामिन बी-12 कम होने पर शुरुआती लक्षण क्या हो सकते हैं।आइए विस्तार से चर्चा करते हैं।

प्रथम :-

विटामिन बी 12 शरीर में नई कोशिकाओं के निर्माण और वृद्धि में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, जैसे कि सफेद रक्त कोशिकाएं, प्लेटलेट्स और पाचन तंत्र की सबसे भीतरी लेयर, जिसे म्यूकोसल एपिथेलियल सेल लेयर कहा जाता है।

दूसरा:-

चेता तंत्र की सुरक्षा के लिए विटामिन बी12 की सबसे ज्यादा जरूरत होती है।

तीसरा :-

विटामिन बी-12 शरीर की विभिन्न चयापचय प्रक्रियाओं में एक मध्यस्थ और अपरिहार्य घटक है।

हमारे शरीर में विटामिन बी12 की दैनिक आवश्यकता बच्चों के लिए 0.9 माइक्रोग्राम, वयस्कों के लिए 2.4 माइक्रोग्राम, स्तनपान कराने वाली महिला या गर्भवती महिलाओं के लिए 5-6 माइक्रोग्राम है। जो हमें रोजाना के खाने से मिलता है।

लेकिन अगर हमारे शरीर में विटामिन बी12 की कमी हो जाती है, तो लीवर द्वारा संग्रहित दो-तिहाई हिस्से की आपूर्ति शरीर को अनुमानित 2 से 3 मिलीग्राम लीवर से की जाती है।

लेकिन अगर शरीर में अन्य कई कारणों से बी-12 की कमी हो जाती है तो कुछ खास लक्षण नजर आते हैं। जो तीन खंडों में है उसे पूरी तरह से ध्यान से समझकर ठीक किया जा सकता है।

विटामिन बी-12 की कमी के शुरुआती और कुछ खास लक्षण

 प्रथम :-

विटामिन बी-12 के शुरूआती लक्षण :- धीमा लेकिन तेज सिरदर्द, आंखों का काला पड़ना, चक्कर आना। शरीर कमजोर महसूस करता है, कम काम करने के बावजूद थकान महसूस करता है और दिन में काम में एकाग्रता की कमी होती है।

दूसरा :-

जिन लोगों को पांच से छह महीने से बी-12 की कमी है, लेकिन उन्हें इसका एहसास नहीं है, उन्हें बार-बार मुंह में छाले, गले में खराश या गला सूखना, गैस्ट्राइटिस की समस्या जैसे पेट में भारीपन, एसिडिटी, गैस, अपच, नर्वस डायरिया जैसे लक्षण हैं। जिसके लिए तीन से चार बार शौचालय जाना पड़ता है।

तिसरा :-

विटामिन बी12 की कमी वाले लोग अत्यधिक लक्षणों का अनुभव करते हैं जैसे कि हाथ पैर भारी हो जाना, हाथों और पैरों में सुन्नता और शरीर के चारों ओर चीटियों की तरह महसूस करना।

मानसिक असंतुलन जैसे स्मृति हानि, बार-बार भूल जाना, बिना किसी कारण के उदास या तनाव महसूस करना।चिड़चिड़ापन या मन बदलना । ये सभी लक्षण या तो हम स्वयं जानते हैं या फिर हमें व्यक्तिगत लोगों से पता चलता है।

विटामिन बी12 की कमी के ये मुख्य लक्षण हैं जो ध्यान देने योग्य हैं। और इसका जल्द से जल्द इलाज किया जाना चाहिए।

आशा है कि आप शरीर में विटामिन बी-12 के महत्व को स्पष्ट रूप से समझ गए होंगे। और विटामिन बी-12 की कमी के लक्षण क्या हैं अधिक जानकारी के लिए B12greenfood.com पर जाएं।

और आपके सभी सवाल इस विटामिन बी-12 सीरीज में नीचे कमेंट करते रहें।

तब तक के लिए …
|| सर्वे भवन्तु सुखिन सर्वे संतू निरामय ||